Sun, 19 Jun 2022

चक्रवाती तूफान का डमी अलर्ट ओडिशा में हड़कंप

 चक्रवाती तूफान का डमी अलर्ट ओडिशा में हड़कंप

ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से रविवार को चक्रवात को लेकर एक डमी संदेश  से लोगों में हड़कंप मच गया और कई लोगों ने इस तरह के कदम के पीछे की मंशा पर सवाल उठाए.

क्या था डमी संदेश में

एसआरसी के डमी संदेश में कहा गया है कि एक आसन्न चक्रवात सितरांग के 155 किलोमीटर प्रति घंटे की गति के साथ एक बहुत ही गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में धामरा के करीब उत्तर ओडिशा को पार करने की आशंका है. इससे लोगों में हड़कंप मच गया और कई लोग सोच में पड़ गए कि भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) से ऐसी कोई जानकारी क्यों नहीं मिली. ट्वीट में डमी संदेश में 18 जिलाधिकारियों को एक पत्र लिखा गया है जिसमें भारी बारिश, तूफान, मछुआरों और बंदरगाह से संबंधित चेतावनी का जिक्र करते हुए अपेक्षित नुकसान पर विस्तार से बताया गया है और उत्तरी ओडिशा और आसपास के जिलों में कार्रवाई का सुझाव दिया गया है. इससे पैदा हुई भ्रम की स्थति के बीच कई ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने एसआरसी से पोस्ट पर स्पष्टीकरण मांगा.

ट्वीट पर लोगों की आयी तेजी से प्रतिक्रिया

 एसआरसी इस डमी संदेश को स्पष्ट कर सकता है. एक अन्य यूजर ने लिखा, यह डमी संदेश क्यों है? क्या यह गलती से पोस्ट किया गया है? डमी अलर्ट' आमतौर पर चक्रवात और बाढ़ पर अभ्यास के लिए उपयोग किया जाता है. इसका उद्देश्य अधिकारियों को आपदा के कारण पैदा हुई स्थिति को नियंत्रित करना और आपदा के दौरान आवश्यक उपकरण तैयार करना भी है.

बंगाल की खाड़ी के ऊपर फिलहाल कोई चक्रवाती तूफान नहीं

 बंगाल की खाड़ी के ऊपर फिलहाल ऐसा कोई चक्रवाती तूफान नहीं है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने इस तरह की प्रणाली के संबंध में कोई पूर्वानुमान या चेतावनी जारी नहीं की है. एक ट्विटर उपयोगकर्ता के प्रश्न पर स्पष्टीकरण देते हुए चक्रवात संबंधी तैयारी के तहत एसआरसी ओडिशा हमारी तैयारियों के कार्यों का पूर्वाभ्यास करने के लिए राज्य भर में प्रत्यक्ष मॉक ड्रिल का आयोजन कर रहा है. चिंता की कोई बात नहीं है. खुशी है कि डमी संदेश ने एक भावना पैदा की है.

Advertisement

Advertisement