Tue, 10 Jan 2023

Pravasi Bhartiya Sammelan: प्रवासी भारतीय सम्मेलन के समापन पर बोले, सीएम शिवराज चौहान, तुम्हारे बिना यह इंदौर बहुत सूना-सूना लगेगा....

Pravasi Bhartiya Sammelan: प्रवासी भारतीय सम्मेलन के समापन पर बोले, सीएम शिवराज चौहान, तुम्हारे बिना यह इंदौर बहुत सूना-सूना लगेगा....

सुमित कुमार - संवाददाता

Indore: प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के समापन समारोह में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रवासी भारतियों को संबोधित किया, इस दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान भावुक नजर आए, जहां शायराना अंदाज में उन्होंने प्रवासी मेहमानों को विदाई दी।

17 वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के समापन समारोह में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के साथ ही सूरिनाम के राष्ट्रपति चंद्रिका प्रसाद संतोखी, गुयाना के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद इरफान अली, राज्यपाल मंगूभाई पटेल, सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री एस. जयशंकर, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हुए। इस दौरान सीएम शिवराज ने प्रवासी भारतियों को संबोधित किया।

प्रवासी भारतीय दिवस के समापन सत्र को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा की, यह एक दुर्लभ अवसर है कि एक मंच पर 3-3 महामहिम राष्ट्रपति विराजमान हैं। मेरा मन भाव विभोर है। आनंद और प्रसन्नता से भरा हुआ है लेकिन दिल के किसी कोने में गम की उदासी भी छा रही है। तीन दिन तक आपका साथ रहा, इंदौर आपसे एकरूप हो गया। आनंद, उत्सव और उमंग के तीन दिन कब बीते, पता ही नहीं चला। सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे सन्तु निरामया। सर्वे भद्राणि पश्यन्तु, मा कश्चित् दुःखभाग् भवेत्। भारत का यह संदेश आप पूरी दुनिया में फैलाइए। मध्यप्रदेश अद्भुत राज्य है। हम मध्यप्रदेश में शहरों और गांवों का गौरव दिवस मनाते हैं जिसमें उसका उस शहर और गांव के रहने वाले सभी लोगों को बुलाते हैं। आप साल में एक बार अपने शहर और गांव जरूर आना और कोई योगदान भी देना। आज मध्यप्रदेश हिंदुस्तान का फूड बास्केट है। गेंहू के उत्पादन में हमने पंजाब को पीछे छोड़ दिया है।

इसी के साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा की, इंदौर जनसहभागिता और जनभागीदारी की भी राजधानी है। मध्यप्रदेश व इंदौर की जनता ने जी जान से इस कार्यक्रम को सफल बनाया। नमो ग्लोबल गार्डन में आप सभी ने पेड़ लगाएं। आपको हमने प्रेम के बंधन से हो बाँधा ही था, अब पेड़ के बंधन से भी बांध दिया। यह पेड़ सदैव आपकी याद दिलाएंगे। जिन लोगों ने नमो ग्लोबल गार्डन में पेड़ लगाए, उन्हें हम क्यूआर कोड भी दे रहे हैं। उसे स्कैन करने पर आपका पेड़ दिखता रहेगा। यह पेड़ आपको हमारी याद दिलाएगा। साथियों यह विदाई की बेला है। जब तुम चले जाओगे तो याद बहुत आओगे। तुम्हारे बिना यह कन्वेंशन सेंटर, यह राजवाड़ा, यह इंदौर बहुत सूना-सूना लगेगा

Advertisement

Advertisement

Advertisement