Sun, 19 Jun 2022

गिरफ्तारी नूपुर शर्मा की लेकर मौलाना तौकीर रजा करेंगे प्रदर्शन

गिरफ्तारी नूपुर शर्मा की लेकर मौलाना तौकीर रजा करेंगे प्रदर्शन

पैगंबर-ए-इस्लाम पर टिप्पणी के खिलाफ आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खां ने 17 जून को धरने का ऐलान किया था, लेकिन प्रयागराज, सहारानपुर आदि शहरों में धरने के बाद बवाल हो गया.

इसके चलते डीएम ने जिले में धारा 144 लागू कर दी थी. ऐसे में अब यह धरना 19 जून यानी आज होना है. हालांकि, प्रशासन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट मोड पर है.


बरेली में 3 बजे से 5 बजे तक धरने का ऐलान

बरेली में धरने के नाम पर किसी तरह का बवाल न हो. इसलिए बरेली के जिला प्रशासन और पुलिस अफसरों ने यहां धरना न करने के निर्देश दिए थे.  रविवार को 3 बजे से 5 बजे तक धरना कराने का फैसला लिया है. आइएमसी ने 19 जून के कार्यक्रम के लिए डीएम से अनुमति के लिए आवेदन भी दिया है.


नुपुर की गिरफ्तारी तक जारी रहेगा धरना- मौलाना

आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रज़ा खां ने बताया कि यौम-ए-दुरूद कार्यक्रम होगा. मौलाना ने कहा कि नबी ए करीम सल्लालाहो अलैहे वसल्लम से अकीदत का नज़राना पेश करने वालों के लिए दिन और तारीख कोई मायने नहीं रखते. मौलाना ने मुसलमानों से अपील करते हुए कहा कि जुमा नमाज़ के बाद अपने अपने घरों को जाए. इसके साथ ही इतवार को नबी ए करीम से मुहब्बत का नज़राना पेश करने दोपहर 3 बजे इस्लामिया ग्राउंड में यौम-ए-दुरूद में शामिल हों. उन्होंने कहा जब तक नुपुर की गिरफ्तारी नहीं की जायेगी. मुसलमान खामोश नही रहेंगे. इसी तरह प्रदर्शन होते रहेंगे.

महिलाएं और बच्चें नहीं होंगे शामिल

मौलाना ने कहा कि यौम-ए-दुरूद कार्यक्रम में महिलाएं और बच्चें शामिल नहीं होंगे. उनके लिए अलग से कार्यक्रम होगा. इस्लामिया ग्राउंड में दुरूद पढ़ते हुए बिना नारे लगाते हुए आने की बात कही. नबी ए करीम से मुहब्बत में नज़राना पेश करते हुए हमे यह नज़ीर पेश करना है कि हम अमन वाले हैं. अपने नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं कर सकते. नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी तक हम इसी तरह यौमे दुरूद मनाते रहेंगे.

मौलाना ने PM मोदी से की ये अपील

उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री से अपील करते हैं कि देश में बढ़ते जा रहे नफरतों के माहौल पर अपनी सोच को जाहिर करें. मौलाना ने कहा कि, मुसलमानों पर जुल्म किया जा रहा है. हमारे मासूम बच्चों को मारा जा रहा है.बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा मुकदमों और बुलडोजर से मुसलमानों को न डराया नहीं जा सकता, न कुचला जा सकता है. मुसलमान इस देश का नागरिक है. उसे बराबरी का हक है.

Advertisement

Advertisement