Sun, 10 Jul 2022

देशभर में जोश खरोश के साथ मनाई जा रही है बकरीद

देशभर में जोश खरोश के साथ मनाई जा रही है बकरीद

ईद-उल-अजहा का त्योहार पूरे देश में मनाया जा रहा है और इस मौके पर द‍िल्‍ली के जमा मस्‍ज‍िद पर नमाज अदा की गई जामा मस्जिद में बड़ी तादाद में नमाजी जुटे, वहीं देश की कई मस्जिदों में नमाज पढ़ी गई, गौर हो कि इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, ईल-उल-अजहा का पर्व 12वें महीने की 10 तारीख को मनाया जाता है औ इस दिन बकरे की कुर्बानी दी जाती है।

दिल्ली के मुस्लिम बहुल इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है, धार्मिक स्थलों के आस-पास ट्रैफिक गतिविधियों को सामान्य करने के लिए अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

कुर्बानी के मीट के तीन हिस्से किए जाते हैं जिसमें से पहले हिस्से को फकीरों में और दूसरे हिस्से को रिश्तेदारों में और तीसरे हिस्से को घर में बनाकर खाया जाता है।

ईद अल-अज़हा इस्लाम धर्म में विश्वास करने वाले लोगों का एक प्रमुख त्यौहार

ईद अल-अज़हा या क़ुरबानी की ईद इस्लाम धर्म में विश्वास करने वाले लोगों का एक प्रमुख त्यौहार है। रमजान के पवित्र महीने की समाप्ति के लगभग 70 दिनों बाद इसे मनाया जाता है। इस्लामिक मान्यता के अनुसार हज़रत इब्राहिम अपने पुत्र हज़रत इस्माइल को इसी दिन खुदा के हुक्म पर खुदा कि राह में कुर्बान करने जा रहे थे, तो अल्लाह ने उसके पुत्र को जीवनदान दे दिया जिसकी याद में यह पर्व मनाया जाता है। अरबी भाषा में 'बक़र' का अर्थ है गाय लेकिन इधर हिंदी उर्दू भाषा के बकरी-बकरा से इसका नाम जुड़ा है, अर्थात इधर के देशों में बकरे की क़ुर्बानी के कारण असल नाम से बिगड़कर आज भारत, पाकिस्तान व बांग्ला देश में यह 'बकरा ईद' से ज्यादा विख्यात हैं।


ईद-ए-कुर्बां का मतलब है बलिदान की भावना

अरबी में 'क़र्ब' नजदीकी या बहुत पास रहने को कहते हैं मतलब इस मौके पर अल्लाह् इंसान के बहुत करीब हो जाता है। कुर्बानी उस पशु के जि़बह करने को कहते हैं जिसे 10, 11, 12 या 13 जि़लहिज्ज (हज का महीना) को खुदा को खुश करने के लिए ज़िबिह किया जाता है। कुरान में लिखा है: हमने तुम्हें हौज़-ए-क़ौसा दिया तो तुम अपने अल्लाह के लिए नमाज़ पढ़ो और कुर्बानी करो।


CM योगी ने ईद-उल-अजहा के पर्व पर प्रदेशवासियों को  बधाई दी

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ईद-उल-अजहा के पर्व पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दीं, एक बयान में मुख्यमंत्री ने अपने बधाई संदेश में कहा कि ईद-उल-अजहा का त्योहार सभी को मिल-जुलकर रहने तथा सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की प्रेरणा प्रदान करता है। योगी ने लोगों से कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत सभी सावधानियां बरतते हुए ईद-उल-अजहा मनाने की अपील की।

Advertisement

Advertisement