Thu, 9 Jun 2022

मिताली राज का ऐसा रहा है 23 साल का सफर, एक युग की समाप्ति

मिताली राज का ऐसा रहा है 23 साल का सफर, एक युग की समाप्ति

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दिग्गज खिलाड़ी पूर्व कप्तान मिताली राज ने आज क्रिकेट के सभी प्रारुपों से संन्यास ले लिया.

मिताली राज के संन्यास के ऐलान के बाद फैंस मायूस हो गए हैं. मिताली राज ने 26 जून 1999 को भारतीय महिला क्रिकेट टीम  में डेब्यू किया था. मिताली राज  ने तब से लेकर अब तक अपनी शानदार बल्लेबाजी से भारतीय महिला क्रिकेट टीम को आगे ले जाने में अहम भूमिका निभाई है.

मिताली राज (Mithali Raj) के संन्यास के ऐलान से एक युग का अंत हो गया. मिताली राज के क्रिकेट करियर पर नजर डालें तो मिताली राज ने टीम इंडिया (Team India) के लिए 10,000 से ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी हैं. इसके साथ ही मिताली राज ने भारतीय टीम से 6 वर्ल्ड खेलने वाली इकलौती महिला क्रिकेट खिलाड़ी हैं.

मिताली राज (Mithali Raj) के आलावा क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) भारत के लिए एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने छह वर्ल्ड कप खेले हैं. सचिन तेंदुलकर भारत के लिए 1992 से लेकर 2011 तक भारत के लिए छह विश्व कप खेले अपने आखिरी विश्व कप में जीत हासिल की.

38 वर्षीय मिताली राज  को महिला क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) कहा जाता है. 23 साल के क्रिकेट करियर का अंत करते हुए मिताली राज ने एक चिट्ठी में कहा कि भारतीय नीली जर्सी पहनने के लिए मैंने एक छोटी बच्ची की तरह शुरुआत की थी क्योंकि अपने देश का प्रतिनिधित्व करना सबसे बड़ा सम्मान है. इस यात्रा में मैंने अच्छा बुरा सब देखा है. हर एक घटना ने मुझे कुछ नया सिखाया है.

मिताली राज ने आगे कहा कि 23 साल मेरे लिए सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण, सुखद परिपूर्ण रहे हैं. सभी यात्राओं की तरह इसे भी खत्म होना था. मैं आज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से संन्यास ले रही हूं.

Advertisement

Advertisement