Mon, 20 Jun 2022

'पहली बार इतना टॉस हारा',पूरी सीरीज में लगातार टॉस हारने को लेकर ऋषभ पंत ने दी सफाई

'पहली बार इतना टॉस हारा',पूरी सीरीज में लगातार टॉस हारने को लेकर ऋषभ पंत ने दी सफाई

बेंगलुरु: टीम इंडिया के कप्तान ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेली गई पांच मैचों की टी20 सीरीज में लगातार टॉस गंवाएं। इस बारे में पांचवां मैच के रद्द होने के बाद ऋषभ पंत ने मैच प्रेजेंटेशन में बात करते हुए सफाई दी है। ऋषभ ने कहा है कि यह पहली बार है जब उन्होंने इतने टास गंवाए हैं। आइए जानते हैं कि टीम इंडिया के कप्तान ऋषभ पंत ने इस सीरीज के बारे में और क्या कहा है…

टॉस हारना सबसे ज्यादा चर्चाओं का विषय बना

केएल राहुल को चोट लगने के बाद ऋषभ पंत को कप्तानी सौंपी गई थी जहां वे एक खिलाड़ी के तौर पर तो पूरी तरह सफल रहे, तो वही एक कप्तान के तौर पर उनके लिए चीजें मिश्रित रही। ऋषभ पंत का लगातार पांच बार टॉस हारना सबसे ज्यादा चर्चाओं का विषय बना रहा। इसके लिए आप से सिवाए किस्मत के और किसको दोष दे सकते हैं।

पंत ने पांचवें मुकाबले में भी टॉस हारा और दक्षिण अफ्रीका ने लगातार पांचवीं बार गेंदबाजी करने का फैसला किया। हालांकि इस सीरीज में भारत को कई सकारात्मक चीजें भी देखने को मिली। ऋषभ पंत ने मैच के बाद इसके बारे में बात की और कहा कि हमें कई सारी चीजें मिली हैं। जिस तरह से टीम ने शुरु के दो मुकाबले गंवाए और बाद में वापसी की यह एक बहुत बड़ी सकारात्मक बात है। हम अच्छी स्थिति में है और हम एक मैच को जीतने के लिए अलग-अलग तरीके ढूंढ रहे हैं।

पंत कहते हैं कि, मैं एक बल्लेबाज के तौर पर या फिर एक कप्तान के तौर पर केवल अपना 100% देने पर ही ध्यान दे सकता हूं बाकी काम अन्य लोगों का है कि वह यह आकलन करें कि एक खिलाड़ी और कप्तान के तौर पर मैं कैसे हूं। टॉस हारने के मामले पर भी बात करते पंत कहते हैं, यह पहली बार है जब मैंने इतनी बार टॉस हारा है, लेकिन यह मेरे नियंत्रण में नहीं है।

भारतीय टीम की अगली सीरीज इंग्लैंड के खिलाफ विदेश में होगी और वहां पर पंत की जरूरत होगी, जिसके लिए पंत इंग्लैंड रवाना हो जाएंगे।


बल्ले से ज्यादा योगदान देना चाहता हूं

सफेद गेंद से होने वाले एकमात्र टेस्ट मुकाबले की बात करते पंत कहते हैं कि हम उससे टेस्ट मैच को जीतने के लिए बेकरार हैं, हम इंग्लैंड जा रहे हैं और जहां तक मेरे व्यक्तिगत नजरिए की बात है तो मैं टीम के लिए बल्ले से ज्यादा योगदान देना चाहता हूं।

 

Advertisement

Advertisement