Sun, 19 Jun 2022

आज भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच महामुकाबला

आज भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच महामुकाबला

बेंगलुरु। पांच मैचों की टी 20 सीरीज में 2-2 की बराबरी हो जाने के बाद रविवार को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच निर्णायक मुकाबला ब्लॉकबस्टर होगा। दक्षिण अफ्रीका ने दिल्ली और कटक में पहले दो मैच आसानी से जीते लेकिन भारतीय टीम ने शानदार वापसी करते हुए विशाखापत्तनम और राजकोट में अगले दो मैच जीतकर सीरीज में बराबरी कर ली।

राजकोट में चौथे मैच में भारत ने दक्षिण अफ्ऱीका पर रनों के हिसाब से टी-20 में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की। राजकोट में प्लेयर ऑफ द मैच रहे दिनेश कार्तिक ने 2006 में भारत का पहला टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था और उन्हें अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक लगाने के लिए 16 साल और 35 मैच लग गए। कार्तिक ने हार्दिक पांड्या के साथ पांचवें विकेट के लिए तेज़ 65 रन जोड़े, जिसकी बदौलत एक समय 13 ओवर में चार विकेट खोकर 81 रन पर लडख़ड़ा रही भारतीय टीम ने 169 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। भारत ने अंतिम पांच ओवरों में 73 रन बनाए। जवाब में दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी भारतीय गेंदबाजों के सामने टिक नहीं पाई और 87 रन पर सिमट गई। यह साउथ अफ्रीका का टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में न्यूनतम स्कोर था।
दक्षिण अफ्रीका ने अपने अंतिम पांच विकेट सिर्फ़ 13 रन के भीतर गंवाए। भारत की तरफ़ से आवेश ख़ान सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ रहे, जिन्होंने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 18 रन देकर चार विकेट लिया। उन्होंने अपने तीसरे ओवर में तीन विकेट लिए। भारत की निर्णायक मुकाबले से पहले एकमात्र चिंता कप्तान ऋषभ पंत की फॉर्म है। यह सीरीज़ कप्तान ऋषभ पंत के लिए कुछ ख़ास नहीं रही है। वह रन तो बना नहीं रहे हैं जबकि एक ही तरीक़े से आउट हो रहे हैं।

पिछली चार में से तीन पारियों में वह ऐसी गेंदों पर आउट हुए हैं जो आसानी से वाइड हो सकती थी। वह ज़बरदस्ती ऑफ़ स्टंप से काफ़ी बाहर जा रही गेंदों को मारने की कोशिश करते हैं और अपनी विकेट फेंक देते हैं। चौथे मैच में वह केशव महाराज की वाइड लाइन से बाहर जाती फ़ुल गेंद को स्वीप करने गए, बाहरी किनारा लगा और शॉर्ट थर्ड मैन पर ड्वेन प्रिटोरियस के लिए यह आसान कैच था। पंत ने मैच के बाद कहा कि हमने अच्छा खेलने और प्लान पर अमल करने की बात की थी और हमने ऐसा ही किया। जो टीम अंतिम मैच में अच्छा खेलेगी वह जीतेगी। मैं अपने खेल में कुछ बदलाव कर सकता हूं, लेकिन मैं ज़्यादा सोच विचार नहीं करता हूं।

बेंगलुरु में हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे और सीरीज़ जीतने का प्रयास करेंगे। दक्षिण अफ्रीका के उपकप्तान केशव महाराज ने कहा कि अंतिम पांच ओवरों में हमने ज़्यादा रन लुटाए। बल्लेबाज़ी के दौरान पावरप्ले में हमसे ग़लतियां हुई और हम पीछे हट गए। रविवार को एक अहम मैच होगा और हमें बेहतर प्रदर्शन करना होगा। हमने लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए जिससे साझेदारी निभाना कठिन हो गया। भारतीय गेंदबाज़ों को भी श्रेय दिया जाना चाहिए क्योंकि उन्होंने शानदार गेंदबाज़ी की। भारत में छोटे मैदानों पर गेंदबाज़ी करना मेरे लिए कठिन होता है। बेंगलुरु में अंतिम मुक़ाबले में बहुत मज़ा आएगा। भारत ने चौथा मैच 82 रनों से जीतकर बेंगलुरु में होने वाले अंतिम मुक़ाबले को सीरीज़ का फ़ाइनल बना दिया है। इस मुकाबले में जो टीम अनुशासन के साथ बढिय़ा खेलेगी वह सीरीज अपने न आम करेगी।

Advertisement

Advertisement