Mon, 9 Jan 2023

21वीं सदी में भी कौरव हैं.. जो पहनते हैं खाकी हाफपैंट: राहुल गांधी

21वीं सदी में भी कौरव हैं.. जो पहनते हैं खाकी हाफपैंट: राहुल गांधी 

आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि 21वें सदी में भी कौरव हैं जो खाकी हाफ पैंट पहनते हैं और शाखा लिए होते हैं. इनके साथ 2 से 3 अरबपति खड़े होते हैं.

नोटबंदी किसने लागू की? नोटबंदी, गलत GST पर साइन भले नरेंद्र मोदी ने किया हो लेकिन हिंदुस्तान के 2-3 अरबपतियों ने प्रधानमंत्री का हाथ लगाया. 

अपने भाषण में राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा को लेकर कहा कि यात्रा में किसी का धर्म नहीं पूछा गया. अगर कोई गिरा तो उसे उठाया गया. वहीं, उन्होंने केन्द्र सरकार से सवालिया लहजे में पूछा कि, पांडवों ने कुछ गलत किया था? पांडवों ने नोटबंदी, GST लगाई थी? पांडव कभी ऐसा नहीं करते क्योंकि पांडव तपस्वी थे और वो जानते थे कि ये सब इस धरती के तपस्वियों के साथ चोरी करने का तरीका है.

आरएसएस पर इतना बोलकर ही राहुल गांधी चुप नहीं हुए, उन्होंने आगे कहा कि आरएसएस के लोग कभी हर-हर महादेव के नारे नहीं लगाते क्योंकि भगवान शिव तपस्वी थे और ये लोग भारत की तपस्या पर हमला कर रहे हैं. उन्होंने जय सिया राम से देवी सीता को हटा दिया है. ये लोग भारत की संस्कृति के खिलाफ काम कर रहे हैं. बता दें, हरियाणा के कुरुक्षेत्र में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी बोल रहे थे

राहुल गांधी ने इस दौरान कांग्रेस के भारत जोड़ो यात्रा की खूब सराहना की. उन्होंने कहा कि यात्रा इस समय कुरुक्षेत्र में है. उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा समाज में फैलाई जा रही नफरत और भय को खत्म करने के लिए है. इसके अलावा यह बेरोजगारी और महंगाई के खिलाफ भी है. उन्होंने कहा कि कोई कांग्रेस पार्टी का इतिहास देखें इसके कार्यकर्ताओं में एक ऊर्जा दिखेगा. यह तपस्या से बना एक संगठन है. कांग्रेस तपस्या में विश्वास करती है जबकि बीजेपी पूजा का संगठन है.

वहीं राहुल गांधी के बयान पर कई पुजारियों नाराजगी जताई है. उन्होंने पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर अपनी टिप्पणी से उनका अपमान करने का आरोप लगाया है. गांधी ने कहा था कि भारत तपस्वियों का देश है न कि पुजारियों का. युवा तीर्थ पुरोहित महासभा के उज्ज्वल पंडित ने आरोप लगाया कि गांधी ने भारत की प्राचीन सांस्कृतिक परंपराओं का अपमान किया है जिसमें पुजारियों ने केंद्रीय भूमिका निभाई है. उन्होंने एक बयान में आरोप लगाया है कि यह स्पष्ट है कि कांग्रेस नेता दिखावे के लिए जनेऊ पहनते हैं और अपने सिर पर तिलक लगाते हैं.

Advertisement

Advertisement

Advertisement