Wed, 1 Jun 2022

राज्यसभा टिकटों पर कांग्रेस में रार, Pramod Krishnam बोले, पार्टी ने लिए निराश करने वाले फैसले

राज्यसभा टिकटों पर कांग्रेस में रार, Pramod Krishnam बोले, पार्टी ने लिए निराश करने वाले फैसले

नई दिल्ली: कांग्रेस की ओर से घोषित किए गए राज्यसभा उम्मीदवारों को लेकर पार्टी में लगातार कलह जारी है। प्रवक्ता पवन खेड़ा और नगमा के बाद अब पार्टी के नेता प्रमोद कृष्णम ने भी अब टिकट बंटवारे पर नाराजगी जाहिर की है। प्रमोद कृष्णण ने कहा कि कुछ लोगों की शिकायतें हैं। राज्यसभा लोकतंत्र का मंदिर है। इसलिए वहां बुद्धिजीवी और अनुभवी लोगों को भेजा जाना चाहिए, जो देश के लिए काम करें और पार्टी को मजबूती दें, लेकिन जो फैसले लिए गए हैं, वे निराश करने वाले हैं। प्रमोद कृष्णण ने कहा कि पंजाब के सांसद मनीष तिवारी एवं कुछ अन्य नेताओं ने भी इस लिस्ट पर चिंता जाहिर की है।

प्रमोद कृष्णण ने गुलाम नबी आजाद जैसे सीनियर नेताओं की उपेक्षा का भी पार्टी पर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अब तो फैसले लिए जा चुके हैं, लेकिन गुलाम नबी आजाद, तारिक अनवर, सलमान खुर्शीद और राशिद अल्वी जैसे लोग स्थापित और चर्चित नेता रहे हैं। इन लोगों का सम्मान किया जाना चाहिए था। कांग्रेस की राज्यसभा टिकटों की लिस्ट पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के सलाहकार संयम लोढा भी सवाल उठा चुके हैं।

महाराष्ट्र के नेता ने सोनिया गांधी को भेजा इस्तीफा

कांग्रेस में राज्यसभा सीट को लेकर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस ने आगामी राज्यसभा चुनाव के लिए पार्टी की ओर दस उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है, लेकिन कई नेताओं को इन नए नामों पर आपत्ति है। सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश के इमरान प्रतापगढ़ी के नाम को लेकर विरोध हो रहा है। अब महाराष्ट्र के एक नेता ने इमरान प्रतापगढ़ी को उम्मीदवार बनाए जाने के विरोध में कांग्रेस के महाराष्ट्र इकाई के महासचिव पद से त्यागपत्र दे दिया है। महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता आशीष देशमुख ने कहा है कि महाराष्ट्र में उत्तर प्रदेश के नेता को थोपा जा रहा है जो महाराष्ट्र के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय है। आशीष देशमुख ने अपना इस्तीफा पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है।

Advertisement

Advertisement