Fri, 20 Jan 2023

सऊदी अरब के इन दोनों अहम शहरों के पहाड़ी इलाकों में रेगिस्‍तान के अंदर जमकर देखने को मिल रही हरियाली

सऊदी अरब के इन दोनों अहम शहरों के पहाड़ी इलाकों में रेगिस्‍तान के अंदर जमकर देखने को मिल रही हरियाली 

दुनियाभर के करोड़ों मुसलमानों के दो सबसे पवित्र शहरों मक्‍का और मदीना के आसपास बहुत दुर्लभ घटना घटी है। सऊदी अरब के इन दोनों अहम शहरों के पहाड़ी इलाकों में रेगिस्‍तान के अंदर जमकर हरियाली देखने को मिल रही है। इस इलाके का वीडियो अब सोशल मीडिया में जमकर शेयर किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस इलाके में यह हरियाली पिछले साल हुई जोरदार बारिश की वजह से हुई है। वहीं कई लोग इस चमत्‍कारिक घटना को हजारों साल से चली आ रही पैगंबर मोहम्‍मद की भविष्‍यवाणी से जोड़कर भी देख रहे हैं।

गत वर्ष दिसंबर महीने में मक्‍का और मदीना शहरों के आसपास जमकर बारिश हुई थी। इससे दोनों ही शहरों के चारों ओर स्थित पहाड़ी और रेगिस्‍तानी इलाके में अब जमकर घास पैदा हुई है। इसके वायरल हो रहे वीडियो में नजर आ रहा है कि ऊंट और अन्‍य जीव इन घासों को खा रहे हैं। सऊदी अरब अपने रेगिस्‍तान और बहुत ही गर्म मौसम के लिए जाना जाता है। ऐसे में यहां बारिश और हरियाली का दिखाई देना अपने आप में बहुत ही अनोखी घटना मानी जा रही है। यही नहीं इन घास के इलाकों को नासा के सैटेलाइट से भी देखा जा सकता है।

पैगंबर की क्‍या थी भविष्‍यवाणी
ब्रिटिश अखबार द सन की रिपोर्ट के मुताबिक स्‍थानीय लोग कह रहे हैं कि यह कयामत के दिन के करीब आने का संकेत है, जब दुनिया खत्‍म हो जाएगी। कहा जाता है कि पैगंबर मोहम्‍मद ने 1400 साल पहले कहा था, 'अंतिम समय तब तक नहीं आएगा जब तक कि अरब की धरती घास के मैदान और नदियों से भर जाएगी।' वहीं कई लोग इसे हाल ही में सऊदी अरब के हरियाली को बढ़ावा देने के कदम से जोड़कर देख रहे हैं। इस बीच जलवायु परिवर्तन के विशेषज्ञों का कहना है कि बहुत ज्‍यादा बारिश और अचानक आई बाढ़ संभवत: जलवायु में आ रहे बदलाव की वजह से हुआ है।

Advertisement

Advertisement

Advertisement