Thu, 28 Jul 2022

WHO के वैज्ञानिक बोले,दो हफ्ते में दोगुने हो रहे मंकीपॉक्स के केस, प्रसार रोकने के रास्ते हो रहे हैं बंद

WHO के वैज्ञानिक बोले,दो हफ्ते में दोगुने हो रहे मंकीपॉक्स के केस, प्रसार रोकने के रास्ते हो रहे हैं बंद

जेनेवा: मंकीपॉक्स दिन पर दिन गंभीर रूप लेते जा रहा है। विश्व स्वास्थ संगठन (डब्ल्यूएचओ) के वैज्ञानिकों का कहना है कि वर्तमान में हर दो सप्ताह में इसके मामले दोगुने हो रहे हैं। मंकीपॉक्स के प्रसार को रोकने के लिए रास्ते बंद रहे हैं। बीमारी को लेकर चिंता जताते हुए वैज्ञानिकों ने कहा कि प्रकोप को चरम पर पहुंचने में कुछ महीने लग सकते हैं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार दो अगस्त तक 88 देशों में 27,000 से अधिक मंकीपॉक्स के मामलों की पुष्टि हुई है, जबकि इससे पहले यह आकंड़ा 70 देशों में 17,800 मरीजों तक सीमित था। वैज्ञानिकों का मानना है कि इससे आगे की भविष्यवाणी करना जटिल है, लेकिन वायरस के लंबे समय तक ट्रांसमिशन की उम्मीद जताई है।

कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, लॉस एंजल्स में एक महामारी विज्ञान के प्रोफेसर ऐनी रिमोइन ने कहा है कि हमें इसके फं्रट में आना पड़ेगा। वहीं, डब्ल्यूएचओ विशेषज्ञ समिति के एक सदस्य रिमोइन ने कहा कि यह स्पष्ट है कि ऐसा करने के अवसर की खिडक़ी बंद हो रही है। बता दें कि पिछले हफ्ते डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डा. टेड्रोस अदनोम दुनिया के सामने हैल्थ एमर्जेंसी की घोषणा की कर चुके हैं।

वैज्ञानिकों ने कहा कि हैल्थ एमर्जेंसी की घोषणा के बाद कुछ कदम तत्काल उठाए जाने चाहिए, जिसमें टीकाकरण में तेजी, टेस्टिंग, संक्रमित लोगों के लिए आइसोलेशन की व्यवस्था और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में तेजी लानी चाहिए। दुनियाभर में पैर पसारने से पहले मंकीपॉक्स अफ्रीका के कुछ देशों तक सीमित था, लेकिन अब उन देशों के बाहर भी इसके मामले मिलने लगे हैं।

Advertisement

Advertisement