Wed, 1 Jun 2022

मानसून काल में सामान्य से ज्यादा होगी बारिश, मौसम विभाग ने फिर बदला अपना पूर्वानुमान

मानसून काल में सामान्य से ज्यादा होगी बारिश, मौसम विभाग ने फिर बदला अपना पूर्वानुमान

नई दिल्ली: राजधानी में सात दिन की बारिश ने तीन महीने का कोटा पूरा कर दिया और अब मानसून पर अच्छी खबर आई है। मौसम विभाग ने बताया है कि मानसून के इस मौसम में पहले लगाए गए अनुमान से अधिक बारिश होने की उम्मीद है। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने पत्रकारों को बताया कि मानसून के इस मौसम में औसत बारिश के दीर्घकालिक अवधि औसत के 103 फीसद रहने की संभावना है। आईएमडी ने अप्रैल में कहा था कि देश में सामान्य वर्षा होगी, जो दीर्घकालिक अवधि औसत का 99 प्रतिशत होगी। मानसून पर पूर्वानुमान जारी करते हुए महापात्र ने मंगलवार को कहा कि देश के अधिकांश हिस्सों में अच्छी वर्षा होगी। उन्होंने कहा कि मध्य और प्रायद्वीपीय भारत में बारिश के दीर्घकालिक अवधि औसत का 106 फीसद होने की उम्मीद की जा सकती है, जबकि उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में सामान्य से कम बारिश हो सकती है। आईएमडी ने 29 मई को घोषणा की थी कि दक्षिण-पश्चिम मानसून अपने सामान्य निर्धारित समय पहली जून से तीन दिन पहले रविवार को केरल पहुंच गया है।

देशभर में जून 2022 में बारिश की संभावना का पूर्वानुमान जारी करते हुए मौसम विभाग ने बताया कि पूरे देश में 2022 जून की औसत वर्षा सामान्य (एलपीए का 92-108 प्रतिशत) होने की संभावना है। 1971-2020 के आंकड़ों के आधार पर जून के दौरान देश में वर्षा का एलपीए लगभग 165.4 मिमी है। जून में उत्तर-पश्चिम, मध्य भारत और दक्षिण प्रायद्वीप के उत्तरी भाग के अधिकांश हिस्सों और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य या सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना है। पूर्वोत्तर भारत और दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के दक्षिणी भाग के कई हिस्सों, मध्य और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य से कम बारिश की उम्मीद है।

Advertisement

Advertisement