Fri, 30 Dec 2022

जैन धर्म के मोक्ष स्थल श्री सम्मेद शिखर जी को पर्यटन स्थल नहीं,सर्वोच्च तीर्थ स्थल बनाए मोदी सरकार-साधना भारती

जैन धर्म के मोक्ष स्थल श्री सम्मेद शिखर जी को पर्यटन स्थल नहीं,सर्वोच्च तीर्थ स्थल बनाए मोदी सरकार-साधना भारती

मात्र ढाई वर्ष की उम्र से लेकर आज तक पिछले लगभग पच्चीस वर्षों में आध्यात्मिक,सामाजिक और राजनैतिक मंचों से हजारों जनसभाएं और रैलियां संबोधित कर चुकीं विश्व की सबसे कम उम्र की प्रथम आध्यात्मिक,सामाजिक और राजनैतिक स्टार प्रचारक,कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता और विश्वशान्ति मानव एकता मिशन की मुख्य संयोजक विश्वविदुषी साधना भारती जी ने कहा है कि सर्वे भवन्तु सुखिन,सर्वे संतु निरामया,सर्वे भद्राणि पश्यंतु,मां कश्चित दुख भागभवेत् अर्थात सभी सुख से रहे,सभी स्वस्थ रहे,सभी का मंगल हो,किसी को भी कष्ट न मिले,सारा संसार सुख से रहे।जैन धर्म जीव हत्या को महापाप मानता है,भगवान महावीर जी द्वारा दिए गए मूल सिद्धांत अहिंसा परमो धर्म:,यतो धर्म:ततो जय: या यतो धर्म:धर्मस्त्ततो जय:।

अर्थात अहिंसा ही परम धर्म है,जहां धर्म है,वहां जीत है।जियो और जीने दो।आत्मान प्रतिकूलानि परेषाम न समाचरेत।इस भावना के अनुसार दूसरे व्यक्तियों से ऐसा व्यवहार करें जैसा कि हम अपने लिए अपेक्षा करते हैं,इतना ही नहीं सभी जीव जंतुओं सहित प्राणी मात्र के प्रति अहिंसा की भावना रखकर किसी प्राणी की अपने स्वार्थ और जीभ के स्वाद आदि के लिए हत्या ना तो करें और न ही करवाएं और हत्या से उत्पन्न वस्तुओं का उपयोग भी न करें।जैन धर्म हमेशा अहिंसा और शान्ति का संदेश देता है।

विश्वशान्ति की सशक्त संदेशवाहक विश्वविदुषी साधना भारती जी ने कहा है कि जैन धर्म के 24 तीर्थंकरों में से 20 तीर्थंकरों की निर्वाण स्थली,मुक्ति मोक्ष स्थली झारखंड के पारसनाथ पर्वत पर श्री सम्मेद शिखर जी है।गिरडीह जिले के पारसनाथ पर्वत को झारखंड का हिमालय पर्वत भी माना जाता है,श्री सम्मेद शिखर जी विश्वभर के जैन समुदाय का सर्वोच्च पवित्र तीर्थ स्थल माना जाता है,जैन समुदाय में मान्यता है कि पारसनाथ पर्वत पर स्थापित सर्वोच्च श्री सम्मेद शिखर जी,तीर्थ स्थल के दर्शन करने से पापों का नाश होता है और पुण्य की प्राप्ति होती है,मुक्ति और मोक्ष प्राप्त होता है,मगर अपने चंद अमीर मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए बीजेपी की मोदी सरकार और तत्कालीन बीजेपी की झारखण्ड सरकार ने श्री सम्मेद शिखर जी की सर्वोच्च पवित्र पुण्य भूमि की पवित्रता को दूषित करने का दुस्साहस सन 2019 में किया।

कांग्रेस के इतिहास और वर्तमान की सबसे कम उम्र की प्रथम राष्ट्रीय प्रवक्ता विश्वविदुषी साधना भारती जी के अनुसार अपने चंद अमीर मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए बीजेपी की मोदी सरकार और तत्कालीन बीजेपी की राज्य सरकार द्वारा झारखण्ड में जैन समाज के सर्वोच्च पवित्र तीर्थ स्थल श्री सम्मेद शिखर जी को पर्यटन स्थल घोषित किया गया,जो कि जैन धर्म के सर्वोच्च पवित्र तीर्थ स्थल श्री सम्मेद शिखर जी की पवित्रता को दूषित करने का कुक्रत्य है,घिनौना सडयंत्र है,पर्यटन स्थल विकसित होने से यहां खुलने वाले होटलों और रेस्टोरेंटों में मास मदिरा का सेवन होने लगेगा,जीव हत्या से उत्पन्न वस्तुओं का भक्षण होने लगेगा,जिससे जैन धर्म के सर्वोच्च पवित्र तीर्थ स्थल श्री सम्मेद शिखर जी की पवित्रता और मान मर्यादा मलिन होगी।

सर्वोच्च मुक्ति मोक्ष स्थली श्री सम्मेद शिखर जी की पावन पवित्रता की रक्षा और सुरक्षा हेतु सन 2019 से ही देश और विदेश के हजारों जैन बंधु जगह-जगह शान्ति पूर्ण धरना प्रदर्शन कर रहे हैं,केंद्र की मोदी सरकार को ज्ञापन भी पहुंचा रहे हैं,मगर अपने चंद अमीर मित्रों को लाभ पहुंचाने की मंशा और हटधर्मी के कारण अभी तक मोदी सरकार ने जैन समाज की मांग नहीं मानी,और न ही जैन धर्म की सर्वोच्च निर्वाण स्थली श्री सम्मेद शिखर जी को पर्यटन स्थल की जगह सर्वोच्च तीर्थ स्थल घोषित किया।

विश्वशान्ति मानव एकता मिशन की मुख्य संयोजक विश्वविदुषी साधना भारती जी ने केन्द्र की मोदी सरकार और झारखण्ड की राज्य सरकार से मांग की है कि जैन धर्म की सर्वोच्च पवित्र मुक्ति मोक्ष निर्वाण स्थली श्री सम्मेद शिखर जी को सर्वोच्च तीर्थ स्थल के रूप में ही विकसित किया जाए,चंद अमीर उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए इसे पर्यटन स्थल कदापि न बनाया जाए,पर्यटन स्थल बनाने की घोषणा को तत्काल निरस्त किया जाए।

देश विदेश के समस्त जैन बंधुओं से भी विश्वविदुषी साधना भारती जी ने करबद्ध अपील की है कि श्री सम्मेद शिखर जी को सर्वोच्च तीर्थ स्थल घोषित कराने के लिए आप सभी अपनी धार्मिक आस्था की मांग के वीडियो मैसेज वॉट्सऐप,फेसबुक,यूट्यूब,इंस्ट्राग्राम और ट्यूटर आदि पर अपलोड कीजिए और कराइए।अपनी धार्मिक आस्था और विश्वास की बुलंद आवाज को सोशल मीडिया के माध्यम से मुख्य मीडिया की ब्रेकिंग न्यूज बनवाइए।

अपने सभी घरों,दुकानों और व्यवसायिक केन्दों सहित सभी जैन मंदिरों के बाहर अपनी धार्मिक आस्था और विश्वास की मांग के पोस्टर और बैनर लगवाइए।अपनी धार्मिक आस्था और विश्वास की जाइज मांग से जन-जन को अवगत कराइए,देश विदेश के सभी जैन बंधु भारत की महामहिम राष्ट्रपति तक पोस्ट करके अपनी धार्मिक आस्था और भावना की जायज मांग का ज्ञापन पहुंचाइए।जैन धर्म की सर्वोच्च निर्वाण स्थली श्री सम्मेद शिखर जी की पावन पवित्रता को दूषित और खंडित होने से बचाने का कर्तव्य निभाइए।

Advertisement

Advertisement

Advertisement